तहसील दिवस में नजर आया आपदा का असर

0
111

कोटद्वार: मंगलवार को विभिन्न तहसीलों में आयोजित तहसील दिवसों में आपदा का असर रहा। यमकेश्वर तहसील में जहां एक भी शिकायत दर्ज नहीं हुई, वहीं थलीसैंण तहसील में बारिश से ध्वस्त हुई सड़कों से जुड़ी सर्वाधिक छह शिकायत दर्ज हुई। अलबत्ता कोटद्वार में राजस्व विभाग की सर्वाधिक छह शिकायत दर्ज हुई।

यमकेश्वर में उपजिलाधिकारी सोनिया पंत की अध्यक्षता में आयोजित तहसील दिवस में एक भी शिकायत दर्ज नहीं हुई। आपदा के चलते जगह-जगह संपर्क मार्ग ध्वस्त होने से लोग तहसील दिवस में नहीं पहुंच पाए। अलबत्ता तहसील दिवस के दौरान फोन के माध्यम से परिंदा पंपिग योजना में पेयजल आपूर्ति ठप होने की शिकायत की गई। वहीं, थलीसैंण में प्रभारी तहसीलदार सुभाष ध्यानी की अध्यक्षता में हुए तहसील दिवस में भी आपदा का असर रहा। भरनौ-बापतोलू-मनसारी मोटर मार्ग के बाधित होने सहित विभिन्न छह सड़कों के बाधित होने की शिकायत दर्ज हुई। इसके अलावा बीरोंखाल व थलीसैंण में खाद्यान्न व मिट्टी तेल उपलब्ध न होने की चार शिकायतें, ब्यासी क्षेत्र में पाक्षिक टीकाकरण न होने, जलसंस्थान व राजस्व विभाग की दो-दो व ऊर्जा निगम की एक शिकायत दर्ज हुई।

कोटद्वार में एसडीएम पूरण सिंह राणा की अध्यक्षता में हुए तहसील दिवस में सर्वाधिक छह शिकायत राजस्व विभाग की दर्ज हुई। जबकि, लोनिवि व शिक्षा विभाग की पांच-पांच, जलसंस्थान की तीन, कोटद्वार कोतवाली की दो, स्वास्थ्य विभाग, नगर पालिका, स्वजल परियोजना, समाज कल्याण व खंड विकास अधिकारी कार्यालय से जुड़ी एक-एक शिकायत दर्ज हुई। इनमें से चार शिकायतों का मौके पर निस्तारण किया गया जबकि, अन्य के शीघ्र निस्तारण के लिए एसडीएम ने उन्हें संबंधित विभागों के अधिकारियों के सुपुर्द कर दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here