दुश्मन के रडार में न आने वाला सबसे बड़ा देसी जंगी जहाज पीएम मोदी ने देश को सौपा

0
143

2274_kolkataनई दिल्ली. स्वदेशी तकनीक से बने सबसे बड़े जंगी जहाज आईएनएस कोलकाता को नौसेना में शामिल करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मुंबई के नेवल बेस पहुंच चुके हैं। रक्षा मंत्री अरूण जेटली और नौसेना प्रमुख एडमिरल आरके धवन भी उनके साथ मौजूद हैं।

दुश्मन के राडार की नजर में नहीं आता आईएनएस कोलकाता
मुंबई मझगांव डॉकयार्ड में बना INS कोलकाता ब्रह्मोस मिसाइल से लैस है। 6800 टन वजनी इस युद्धपोत को बनाने में करीब 2600 करोड़ रुपए की लगात आई है। इसके अलावा दुश्मन की पनडुब्बियों की खबर लेने के लिए इसमे टॉरपीडो और एंटी सबमरीन रॉकेट भी मौजूद हैं। INS कोलकाता में बराक मिसाइलें और शक्तिशाली तोप भी मौजूद हैं। यह विशाल जंगी जहाज स्टेल्थ तकनीक से लैस है, जिसकी वजह से यह दुश्मनों के रडार से काफी समय तक बचा रह सकता है। जहाज में दो हेलीकॉप्टर भी तैनात रहेंगे।

देश के लिए बेहद अहम-
INS कोलकाता भारतीय समुद्री सीमाओं में नौसेना की युद्धक क्षमता को काफी मजबूत बना देगा। सबसे अच्छी बात यह है कि इसमें लगे अधिकांश हथियार और सेंसर घरेलू तकनीक से बने हैं।

आईएनएस कोलकाता की खूबियां
– 6800 टन वजनी, 15000 किमी की ऑपरेटिंग रेंज।
– घरेलू तकनीक से बना देश का सबसे बड़ा युद्धपोत, निर्माण मझगांव डॉक लिमिटेड (एमडीएल) का।
– निर्माण में लागत तकरीबन 2606 करोड़ रुपए। तय समय से तीन साल देर से तैयार हुआ।
– सतह से सतह मार करने वाली ब्रह्मोस मिसाइल, रॉकेट लॉन्चर, टॉरपीडो और एके-360 जैसे हथियारों से लैस।
– पनडुब्बी रोधी, ज्यादातर हथियार और सेंसर घरेलू तकनीक से बने।
– युद्धपोत पर 30 नौसेना अफसर और 300 नौसैनिक तैनात होंगे।
– इसी श्रेणी के दो और आईएनएस कोच्चि और आईएनएस चेन्नई भी बनेंगे, अगले कुछ सालों में नौसेना में होंगे शामिल।

6 हजार करोड़ की सेज परियोजना का भी शिलान्यास
बीते दो महीने में मोदी का यह महाराष्ट्र का दूसरा दौरा है। पिछले महीने उन्होंने मुंबई में भाभा परमाणु अनुसंधान केंद्र का दौरा किया था। प्रधानमंत्री मोदी INS कोलकाता देश को सौंपने के बाद नवी मुंबई में 6 हजार करोड़ की सेज परियोजना का शिलान्यास करेंगे। केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी भी उनके साथ होंगे। इसके बाद मोदी शोलापुर को कर्नाटक से जोड़ने वाले एनएच-9 का शिलान्यास करेंगे। साथ ही यहां 765 किलोवॉट की एक बिजली परियोजना को भी पीएम देश को समर्पित करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here