फिर चरमराया ट्रैफिक

0
184

03_05_2015-3rsh11ऋषिकेश: मैदानी क्षेत्रों में गर्मी बढ़ते ही पर्यटकों ने हिल स्टेशनों का रुख कर दिया है। राफ्टिंग के लिए खास पहचान रखने वाले गंगा के कौडियाला-मुनिकीरेती ईको टूरिज्म जोन में इन दिनों कैंपिंग व राफ्टिंग की गतिविधियां जोरों पर हैं। वीकएंड पर पर्यटकों आमद जहां पर्यटन व्यवसायियों के लिए राहत बनी है वहीं हाईवे व बाजार का जाम लोगों के लिए आफत बना रहा।
तीर्थनगरी क्षेत्र रविवार को पर्यटकों की आमद से गुलजार रहा। गंगा के कौडियाला मुनिकीरेती ईको टूरिज्म जोन में बड़ी संख्या में पर्यटक बीच कैंपिंग व राफ्टिंग के लिए पहुंचे। दिल्ली, एनसीआर, हरियाणा, राजस्थान व उत्तरप्रदेश के समीपवर्ती शहरों से बड़ी तादात में पर्यटक अपने निजी वाहनों से यहां पहुंचे। इससे तीर्थनगरी की सड़कों पर वाहनों का भारी दबाव बढ़ गया। रविवार को वाहनों के दबाव से नगर तथा बाहरी क्षेत्रों में जगह-जगह जाम की स्थिति बनी रही। इतना ही नहीं हरिद्वार व ऋषिकेश के मध्य भी कई स्थानों पर दिन भर जाम की स्थिति बनी रहने से वाहन रेंगते हुए आगे बढ़े।
उधर, मुनिकीरेती व ऋषिकेश पुलिस के बीच सामंजस्य की कमी के कारण जाम की स्थिति बनी रही। मुनिकीरेती से पुलिस ने बाईपास के बजाय वाहन कैलाशगेट होते हुए सीधे ऋषिकेश के लिए छोड़ दिए। इससे ऋषिकेश शहर क्षेत्र व लक्ष्मणझूला मार्ग पर जाम की स्थिति बनी रही। जाम का आलम यह रहा कि तपोवन से रायवाला तक आधा घंटे का सफर तय करने में दो से तीन घंटे लग गए। उधर, रविवार को गंगा में दिन भर राफ्टिंग के नजारे दिखे। रंग बिरंगी राफ्टों से गंगा का राफ्टिंग जोन रंगा नजर आया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here