हरिद्वार के रेन बसेरों में की गई हीटर की व्यवस्था

0
183

haridwarहरिद्वार  पहाड़ों पर हो रहे हिमपात के बाद मैदानी इलाकों में दिन रात चल रही शीत लहर लोगों के हाड कपा रही है। लोग शाम से ही घरों में दुबक जाते हैं, लेकिन हरिद्वार में ऐसे भी सैकड़ों लोग हैं जिनके पास न तो सिर छिपाने की कोई जगह है और न ही इस सर्दी में तन को ढकने के लिए गर्म कपड़े।  ऐसे में सरकार की थोड़ी से मदद भी इन लोगों को बहुत अधिक सुकून दे रही है।  ठण्ड को देखते हुए जिलाधिकारी ने पहली बार रैन बसेरों में लकड़ी की जगह हीटर की व्यवस्था कराई है। साथ ही अलाव व्यवस्था का भी आधी रात को खुद जायजा लिया और ठण्ड से ठिठुर रहे लोगों को कम्बल वितरित किए। 

अलाव के सहारे सर्दियां काटने वाले असहाय और बेघर लोगों के लिए हरिद्वार में बनाए गए रेन बसेरे किसी सौगात से कम नहीं है. इन रेन बसेरों में ये लोग सुकून की नींद ले सकेंगे इसके लिए प्रशासन ने पहली बार न केवल यहां पर हीटर की व्यवस्था की है बल्कि ठण्ड से बचने के लिए कम्बल और गद्दे भी उपलब्ध कराए गए हैं।  

जिलाधिकारी हरबंस चुघ ने खुद जाकर वतावस्थाओं का जायज़ा लिया और घाटों पर सोने वालों को कम्बल वितरित किये।   हरकी पैड़ी और अन्य क्षेत्रों में अलाव की व्यवस्था न होने पर नाराज़गी जताई और कल से अलाव जलवाने की व्यवस्था करने के सख्त आदेश निगम की एमएनए को दिए।  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here