अल्मोड़ा जिले के 153 जंगलों में 437 हेक्टेयर वन संपदा जलकर हुई राख!

0
232

Fire-In-Forest-अल्मोड़ा जिले के तीन वन प्रभागों में अभी तक 153 जंगलों में आग से 437 हेक्टेयर वन संपदा राख हो गई हैं ये आंकड़े वन विभाग के हैं, लेकिन जमीनी हकीकत इसके कई गुना अधिक हैं कई दिनों से बारिश नहीं होने के कारण अभी दुबारा जंगलों में आग लगना शुरू हो गया हैं

धौलादेवी ब्लाक के टकोली, तोली, धूरा, खेती, पनाई सहित आधा दर्जन गांवों के जंगलों में आग लगी हुई हैं वन विभाग और प्रशासन के अधिकारियों को जंगलों में आग लगने की सूचना ही नहीं हैं वह आज शासन को भेजी गई रिपोर्ट में कही भी आग लगने की बात नहीं मान रहे हैं

पर्यावरण विद् समशेर सिंह बिष्ट का कहना हैं कि ग्रामीणों का वनों से अधिकारों को हटाना भी एक मुख्य कारण हैं, जब कोई ग्रामीण आग बुझाने में मर जाता हैं तो उसे कोई मुआवजा नहीं मिलता हैं, जबकि वन विभाग कर्मचारियों को लाखों रुपये मिलते हैं जंगलों में लोगों को अधिकारों को सीमित करने से आग की घटनाए अधिक हो रही हैं

इसके साथ ही बिष्ट ने कहा कि वन विभाग के अधिकारियों ने कही भी जंगलों में नहीं रहे, जंगलों में सर्दियों में फायर लाईन बनाई जाती थी, जिससे आग पर कंट्रोल किया जाता था जो आज तक किसी भी जंगल में फायर लाईन नहीं बनाई

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here