सेना मेले में हथियारों ने किया युवाओं आकर्षित!

0
238

भारतीय सेना आज युवाओं के लिए एक बेहतर भविष्य का सुनहरा मौका दे रही है। सेना मेले के जरिए भारतीय सेना न सिर्फ युवाओं को खुद से जोड़ने का प्रयास कर रही है, बल्कि फौज के प्रति उनकी रुची और सोच को बदलने और बढ़ाने की दिशा में भी काम कर रही है। विश्व की सर्वश्रेष्ठ सेनाओं में शुमार भारतीय सेना आज युवाओं के लिए अच्छे भविष्य का सबसे बेहतरीन विकल्प बनती जा रही है। रोजगार के साथ ही जो सम्मान और पहचान एक सैनिक को वर्दी में मिलता है, उसकी बात और अंदाज ही कुछ और है। जंग के आलावा भी सेना आज युवाओं के लिए एक अच्छा भविष्य साबित हो रही है। यहां न सिर्फ युवाओं को अपना कल संवारने का मौका मिल रहा है, बल्कि उन्हें हर पल एक नई चुनौती और एडवेंचर से भरी एक बेहतर जिन्दगी भी मिल रही है। बदलते दौर में अब भारतीय सेना भी हाईटैक होती जा रही है और युवाओं के लिए सेना एक बेहतर करियर के रुप में भी नजर आने लगी है। इन दिनों भारतीय सेना की गोल्डन की विंग की तरफ से देहरादून के गढ़ी कैंट स्थित महेन्द्रा ग्राउंड में सेना मेले का आयोजन किया जा रहा है। इसमें सेना के हथियार, टैंक, रडार सिस्टम, तोपें और आधुनिक उपकरणों की प्रदर्शनी लगाई गई है जिसके जरिए आम लोगों और खास तौर से स्कूली बच्चों में सेना के प्रति आकर्षण पैदा करने की भी कोशिश की जा रही है। इस मेले का एक मकसद है कि स्कूली बच्चों के साथ ही उनके परिजन भी सेना को करीब से जाने कि आखिर जंग के अलावा सेना का एक और दूसरा पहलू क्या है। राजधानी दून के स्कूली बच्चे भी इस मेले में पहुंचकर सेना को करीब से जान रहे हैं। जिन हथियारों को ‌वो अकसर टीवी पर ही जंग के मैदान में देखते हैं, उन्हें नजदीक से देख उनके प्रति छात्रों का रुझान देखते ही बनता है। उत्तराखण्ड की माटी में ऐसा क्या घुला है कि सेना यहां के कण-कण और रोम-रोम में बसी है। हर घर से कोई न कोई प्रत्यक्ष या फिर परोक्ष तौर से, किसी न किसी रुप से सेना से जुडा है। राज्य के गौरवशाली इतिहास की गौरवगाथाओं में यहां के वीर सपूतों ने अपना नाम स्वर्णिम अक्षरों से दर्ज करवाने में अपने कदम पीछे नहीं हटाए। ये ही वजह है कि सेना को भी उत्तराखण्ड फौज के लिहाज से युवाओं के एक बेहतर हब भी नजर आता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here