बड़ा खुलासा : एक जैसे विस्फोटक का इस्तेमाल रूड़की, कर्नाटक और पटना धमाको में

0
188

nia1आतंकवादियों ने उत्तराखंड के रूड़की में डीएवी कॉलेज के बाहर, बिहार की राजधानी पटना के गांधी मैदान, चेन्नई में एक्सप्रेस ट्रेन और कर्नाटक में एक रेस्तरां के पास किए गए विस्फोटों में एक ही तरीके के विस्फोटकों का इस्तेमाल किया था

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) के एक सूत्र के हवाले से यह जानकारी मिली है एनआईए अधिकारी ने बताया कि क्या चारों धमाकों में एक ही संगठन का हाथ है, इस बारे में जांच चल रही है

उत्तराखंड के रुड़की में स्थित डीएवी स्कूल के मैदान में 6 दिसंबर 2014 को बम धमाका हुआ था बम धमाके से स्कूल के एक बच्चे की मौत हो गई बम धमाके से स्कूल में अफरा-तफरी मच गई थी सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, बम मृतक बच्चे के स्कूल बैग में था

बेंगलुरू चर्चगेट धमाके के मुख्य आरोपी आलम जेब अफरीदी उर्फ जावेद रफीक की गिरफ्तारी के बाद यह खुलासा हुआ है उसने बताया कि सभी धमाकों में अमोनियम नाइट्रेड, सल्फर और पोटेशियम क्लोराइट के मिश्रण से विस्फोटक का निर्माण किया गया था इस मिश्रण को लोहे की पाइपों में भर कर विस्फोटक बनाया गया था

रफीक ने पूछताछ में खुलासा किया है कि उसे रेस्तरां के अंदर बम लगाने का निर्देश मिला था, लेकिन वहां कर्मचारियों की मौजूदगी से डरकर उसने रेस्तरां के बाहर बम लगा दिया था यह घटना बेगलुरू के चर्चगेट में 28 दिसंबर 2014 को हुई थी, जिसमें एक महिला की मौत हो गई और कई घायल हो गए थे

रफीक सिमी का कार्यकर्ता है और शीर्ष नेताओं का काफी करीबी है वह केरल में एक आतंकवादी कैम्प आयोजित करने के सिलसिले में फरार था उस पर वहां 3 लाख रुपये का इनाम घोषित किया गया था अहमदाबाद का रहने वाला 30 वर्षीय रफीक अब एनआईए की हिरासत में है

एनआईए अधिकारियों का दावा है कि रफीक उस दिन बेंगलुरू के चर्चगेट के रेस्तरां में इजरायल से आए प्रतिनिधिमंडल को निशाना बनाने की फिराक में था इसके अलावा रफीक पर तेलंगाना के एटीएस हवलदार पर चाकू मारने का भी शक है उस पर अहमदाबाद में 2008 में किए गए बम धमाके में भी शामिल होने की जांच चल रही है

एनआईए के अधिकारी ने इस बारे में कुछ नहीं बताया कि रफीक ने यह सब अकेले किया या वह किसी बड़े संगठन का हिस्सा है शुरुआती जांच में उसने बताया कि उसके आकाओं ने उसे बम बनाने का प्रशिक्षण दिया था और उसके सामान की खरीदारी उसने खुद स्थानीय स्तर पर की थी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here