Thursday, March 21, 2019

उजड़ते गांवों का दर्द

उत्तराखंड अलग राज्य बने यह उत्तराखंड की पूरी जनता का जूनून था लेकिन राज्य बनने पर विकास का आधारभूत ढांचा तैयार करना प्रदेश की सरकारों...

एक संवाद ‘‘हिमालय के जलस्रोतों और बीजों का संरक्षण व संवर्द्धन’’?

अरण्य रंजन पर्वतीय समाज ने सदियों से अपने संसाधनों पर आधारित आत्मनिर्भर जीवन जीया है। जल,जंगल,जमीन, खेती और पशुपालन पर्वतीय जीवन की धुरि रहे हैं।...

उत्तरकाशी में मनाया गया बग्वाल महोत्सव

उत्तरकाशी।  उत्तरकाशी के विभिन्न क्षेत्रों में इन दिनों बग्वाल महोत्सव की धूम है। रवांई घाटी के बनाल पट्टी में  बग्वाल मेले का समापन हो...

पलायन से उजड़ते गांव इधर भी, उधर भी

              व्योमेश चन्द्र जुगरान      यह किस्सा स्पेन के टरयुल प्रांत के  एक गांव का है जो कुछ अरसा ‘गार्जियन’ के हवाले से एक अखबार में छपा...

हिमालय सहित उत्तराखंड की नदियों पर भी खतरा: चंडीप्रसाद भट्ट

नैनीताल।  नैनीताल एटीआई में आपदा में मीडिया की भूमिका पर व्याख्यान देते हुए पर्यावरणविद् चंडीप्रसाद भट्ट ने कहा है कि हिमालय में हो रही...

प्रदेश में अस्पताल खुले लेकिन सुविधाएं नहीं

पौड़ी गढ़वाल।  प्रदेश की स्वास्थ्य व्यवस्था का हल किसी से छुपा नहीं है। आलम यह है कि  लड़खड़ाती स्वास्थ्य सेवाओं को मजबूत करने के स्वास्थ्य...

बुंखाल मेला: पुलिस ने शुरू की तैयारियां, पशुबलि पर रहेगी रोक

पौड़ी गढ़वाल। विश्व प्रसिद्ध बुंखाल मेले को लेकर पुलिस प्रशासन ने अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं। पशुबलि के लिए प्रसिद्ध बुंखाल मेले में हजारों की...

उत्तराखंड की राजधानी गैरसैंण होनी चाहिए: प्रदीप टम्टा

अल्मोड़ा। कांग्रेस के पूर्व सांसद प्रदीप टम्टा अल्मोड़ा जिले के दौरे पर हैं। प्रदीप टम्टा ने अधिकारियों और कर्मचारियों के पहाड़ों में कम जाने के...

भाजपा ने उठाया आपदा पीड़ितों का मुद्दा, सरकार से मांगा मुआवजा

पिथौरागढ़। भाजपा ने गोरीनदी में लगी गरारी में फसने और लाखों रूपये नदी में बह जाने से पीड़ित नारायण सिंह घींघा को पांच लाख...

जैविक कृषि का अर्थ है पंचतत्वों से संतुलन बनाकर चलना 

विजय कुमार  नई दिल्ली विद्वानों का मानना है कि सम्पूर्ण सृष्टि पंचतत्वों से बनी है। पंचतत्व यानि धरती, जल, अग्नि, वायु और आकाश। मानव हो या...