चंपावत में नमक के साथ रोटी खाने को तैयार है गांव की महिलाएं!

0
384

कैश क्राइसिस से जुड़ी दिक्कते, चंपावत के खूनाबोरा गावं मे  एक तरफ मजदूर, व्यापारी छोटे नोट नहीं मिलने से खुद को परेशान बता रहा है। वहीं, दूसरी तरफ गांव की महिलाएं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फैसले का स्वागत करती दिखी। 500 और 1000 के नोट बंद होने के बाद चंपावत से 8 किमी दूर खुनबोहरा गांव में बड़े नोट बंद होने के बाद कैश क्राइसिस को लेकर लोगों से उनके मन की बात जानी गयी गई तो  गावं में रहने वाले और मजदूर करीने वाले हरी राम छोटे नोट न होने पर राशन वाले पर 500 का नोट 350 रुपए में चलाने की बात कर रहे हैं। वहीं, चाय के साथ परचून की दुकान चला रहे बुजर्ग छुट्टे ना मिलने के चलते अपने चाय का कारोबार ही बंद कर दिया है।  दूसरी तरफ गांव की महिलाएं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फैसले का स्वागत करने के साथ  बताती है कि ज्यादा रुपए वालों को दिक्कत होगी। वो नमक और चुड़कानी के साथ रोटी खाने को तैयार हैं। एक हफ्ते बाद भी लोगों को बड़े नोट के बदले छोटे नोट ना मिलने के चलते परिवार और व्यापार चलाने में दिक्कते आ रही हैं। वहीं, घर संभालने वाली महिलाएं के ख्यालातों में भी बड़ी तब्दीली आई है, जो बता रहा कि वाकई भारत बदल रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here