अपनी स्किन को होली खेलने से पहले इस तरह करें कवर, नहीं होंगे रंगों के साइड इफेक्ट

0
108
  • स्किन और बालों में तेल लगाकर रंगों के साइड इफेक्ट से बचा जा सकता है।
  • त्वचा की जलन का ख्याल रखें और कुछ स्किनकेयर टिप्स को भी अपनाएं।
  • बाजार में रासायनिक रंगों कि भरमार है तो यह एहतियात और जरूरी हो जाती है।

होली का त्यौहार हर किसी की जिंदगी में एक नई खुशी और उत्साह लेकर आता है। होली के मौके पर घर घर में तरह तरह के पकवान बनते हैं, लोग एक दूसरे के गुलाल और रंग लगाकर त्यौहार की शुभकामनाएं देते हैं। लेकिन यह त्यौहार तक निराशा की वजह बन जाता है जब होली के रंगों से स्किन खराब होने लगती है। कुछ लोगों की स्किन तो इतनी सेंसटिव होती है कि उनकी स्किन में रैशेज, लाल होना, जलन और कई बार खून भी आने लगता है। ऐसे में किस तरह से अपनी त्वचा का ध्यान रखते हुए होली के हुड़दंग में शामिल हुआ जा सकता है। आइए जानते हैं श्इंडियन ब्यूटी ब्लॉग शालिनी एट बी ब्यूटीलिशियस डॉटकॉमश् पर ब्लॉग लिखती आ रहीं मशहूर ब्लॉगर शालिनी श्रीवास्तव से। इनका कहना है कि बाजार में रासायनिक रंगों कि भरमार है तो यह एहतियात और जरूरी हो जाती है। उन्होंने कहा कि यह आवश्यक है कि हम त्वचा की जलन का ख्याल रखें और साथ कुछ स्किनकेयर टिप्स को अपने दिमाग में सुरक्षित रखें।

इन बातों का रखें ध्यान
होली के रंगों के साइड इफेक्ट से बचने के लिए ठंडा पानी या बर्फ बहुत बड़ी भूमिका निभाते हैं। कुछ बर्फ के टुकड़े लें और उन्हें एक साफ सूती कपड़े में लपेटें। अब लगभग 10 से 15 मिनट के लिए उन्हें अपने चेहरे पर रगड़ें। यह सुनिश्चित करेगा कि आपके चेहरे पर जो छिद्र हैं वो बंद हैं और उन सभी से आपकी त्वचा में रासायनिक रंगों का प्रवेश नहीं होगा।

स्किन और बालों में तेल लगाकर रंगों के साइड इफेक्ट से बचा जा सकता है। सुनिश्चित करें कि आप अपनी पसंद के तेल के साथ अपने बालों को पूरी तरह से तेल लगाते हैं। आपकी त्वचा के लिए, 1 बड़ा चम्मच अरंडी का तेल, नारियल तेल और बादाम के तेल में मिला सकते हैं। अपनी त्वचा पर तेल के इस मिश्रण को एक मोटी परत के रूप मे लगायें जो एक बाधा के रूप में कार्य करेगा और आपकी त्वचा को रंगों से प्रभावित होने से बचाएगा। सुनिश्चित करें कि आप घर से बाहर निकलने से पहले वाटरप्रूफ सनस्क्रीन अवश्य लगाएं। यह आपकी त्वचा को टैन होने से बचाएगा और साथ ही पानी और रंगों से भी रक्षा होगी।
यह बहुत संभव है कि आप रंगों से खेलते समय अपने नाखूनों को नुकसान पहुंचा सकते हैं। उन्हें संरक्षित रखने के लिए, अपने नाखूनों पर नेल पेंट का एक मोटा कोट लगाएं और अपने क्यूटिकल्स को बचाने के लिए उन्हें नेल ऑयल से सील करें।
दही और बेसन, चंदन, गुलाब जल, और हल्दी जैसे प्राकृतिक सामग्री का उपयोग फेस पैक बनाने के लिए करें। यह आपकी त्वचा को शांत करेगा और आपकी त्वचा के प्राकृतिक संतुलन को बहाल करेगा।
जिद्दी रंग हमारी त्वचा पर एक बुरा दाग छोड़ते हैं। थोड़ी सी रूयी पर जैतून का तेल लेकर धीरे धीरे त्वचा से रंगों को हटाएँ । यह आपकी त्वचा को मॉइस्चराइज करेगा और साथ ही साथ सभी रंगों को प्रभावी रूप से हटाएगा।
बिस्तर पर जाने से पहले, सुनिश्चित करें कि आप एक मॉइस्चराइजर का उपयोग करें जो आपकी त्वचा पर हल्का और कोमल हो। यह पर्याप्त नमी प्रदान करेगा जब आप सोते हैं और आपकी त्वचा को मॉइस्चराइज रखते हैं। आप स्वस्थ चमकते चेहरे के साथ जागेंगे।
आप जितना पानी पिएंगे आपकी त्वचा पर उतना निखार आएगा होली के बाद यह और भी आवश्यक है क्योंकि यह आपकी त्वचा को हाइड्रेट रखेगा।
अपने होंठ सुरक्षित रखने के लिए आपको अपने होंठों पर पेट्रोलियम जेली या वैसलीन की एक मोटी परत लगाना नहीं भूलना चाहिए। इसके अलावा, आपके कान और गर्दन को भी सुरक्षित करने की आवश्यकता है, इसलिए सुनिश्चित करें कि आप उन्हें भी कोट करते हैं। यह हानिकारक रसायनों को आपके होंठ, गर्दन और कान को प्रभावित नहीं करने देगा।

अपने चेहरे को रसायन से भरी हुई साबुन और फेस वॉश से न धोने की कोशिश करें क्योंकि वे आपके चेहरे पर मौजूद प्राकृतिक तैलीय तत्वों को नुक्सान पहुंचा सकते हैं और आपकी त्वचा रूखि हो सकती है । उन उत्पादों को साफ करने का विकल्प चुनें जो अधिक कार्बनिक और हर्बल हैं क्योंकि वें आपकी त्वचा को नुकसान नहीं पहुँचाते हैं।