चीनी के ज्यादा सेवन से दिमाग की इन बीमारियों का भी होता है खतरा

0
55
sugar
  • भारतीय लोग एक साल में औसतन 20 किलोग्राम चीनी का सेवन करते हैं।
  • चीनी का ज्यादा सेवन दिमाग के लिए खतरनाक है।
  • सफेद चीनी धीमे जहर के समान है क्योंकि ये चीनी प्रोसेस्ड होती है।

हममें से ज्यादातर लोग इस बात को जानते हुए भी नजरअंदाज करते हैं कि ज्यादा चीनी का सेवन सेहत के लिए खतरनाक होता है। एक शोध के मुताबिक भारत में रहने वाला हर व्यक्ति एक साल में औसतन 20 किलोग्राम चीनी का सेवन करता है। कई लोग तो इससे भी ज्यादा चीनी का प्रयोग करते हैं। आमतौर पर ये माना जाता है कि चीनी के ज्यादा सेवन से डायबिटीज हो जाती है। मगर आपको बता दें कि चीनी का ज्यादा सेवन डायबिटीज ही नहीं आपको दिमाग की भी कई बीमारियां दे सकता है।

चीनी कैसे करती है दिमाग को प्रभावित

चीनी का सेवन दिमाग के लिए खतरनाक है। जब हम चीनी खाते हैं, तो हमारा मस्तिष्क बड़ी मात्रा में डोपामाइन हार्मोन पैदा करता है। डोपामाइन ‘फ़ील हैप्पी’ हार्मोन है यानी इस हार्मोन के कारण आपको अच्छा महसूस होता है। इसीलिए चीनी खाना ज्यादातर लोगों, खासकर बच्चों को अच्छा लगता है। आप जितना अधिक चीनी का सेवन करते हैं, आपको दिमाग में उतना ज्यादा डोपामाइन का निर्माण होता है। हालांकि अच्छा महसूस होने की प्रक्रिया केवल 15-20 मिनट चलती है मगर डोपामाइन मस्तिष्क में काफी देर तक सक्रिय रहते हैं। एक स्तर से ज्यादा डोपामाइन हो जाने के कारण दिमाग असंवेदनशील हो जाता है और आपको मस्तिष्क संबंधित छोटी-मोटी परेशानियां आने लगती हैं।

ज्यादा चीनी के सेवन से दिमाग की किन बीमारियों का खतरा

ज्यादा चीनी का सेवन दिमाग की अतिसंवेदनशील न्यूरोलॉजिकल समस्याओं का कारण बनता है। इसके कारण आपको डिप्रेशन यानी अवसाद, स्ट्रेस यानी तनाव की समस्या होना आम है। कई मामलों में इसके कारण लोग डिमेंशिया और अल्जाइमर जैसी दिमाग की खतरनाक बीमारियों का भी शिकार हो जाते हैं। चीनी के ज्यादा सेवन से दिमाग के सीखने की क्षमता कम हो जाती है और याददाश्त भी कमजोर हो जाती है।

सिर्फ सफेद शुगर नहीं है खतरनाक

आमतौर पर शुगर कहते ही हम सिर्फ सफेद चीनी समझ लेते हैं। मगर आपको बता दें कि चीनी के अलावा दूसरे स्रोतों से प्राप्त होने वाला शुगर भी आपके लिए खतरनाक है। चीनी के अतिरिक्त शुगर हमें प्रोसेस्ड फूड्स में जैसे- ब्रेड, फ्लेवर्ड मिल्क, दही, पैकेटबंद जूस, पैकेटबंद मीठे आहार, चॉकलेट्स, एनर्जी बार, केचअप आदि से भी मिलते हैं। आपको जानकर हैरानी होगी की प्राकृतिक शुगर भी ज्यादा मात्रा में सेहत के लिए हानिकारक हो सकती है। प्राकृतिक शुगर मीठे फलों, गन्ने के रस, गुड़, ब्राउनशुगर, दूध और शहद आदि से मिलता है।

सफेद चीनी है खतरनाक

भारत में सबसे ज्यादा सफेद चीनी का सेवन किया जाता है। चिकित्सकों के मुताबिक सफेद चीनी धीमे जहर के समान है क्योंकि ये चीनी प्रोसेस्ड होती है। इस चीनी का लगातार सेवन आपके पाचनतंत्र के लिए खतरनाक है। महिलाओं में सफेद चीनी के लगातार सेवन से हार्मोन्स असंतुलित हो सकते हैं। बाजार में उपलब्ध अधिकांश प्रोसेस्ड खाद्य पदार्थो में खूब सारी चीनी मिलाई जाती है, ताकि हम केचप, दही, पेस्ट्री और इसी तरह के अन्य प्रोडक्ट अधिकाधिक उपभोग करने के लिए प्रेरित हों।