हिमालय दिवस पर ली हिमालय बचाने की शपथ

0
219

himalay diwasदेहरादून। राज्य में  पहली बार आयोजित हिमालय दिवस पर मुख्यमंत्री हरीश रावत ने पर्यावरण बचाने के लिए कई महत्वपूर्ण बातें कहीं। उन्हें कहा कि जैवविविधता के लिए खतरा बनते जा रहे पिरूल का बीस से 25 फीसदी तक सफाया किया जायेगा। इसी के साथ ही जलवायु के अनुसार विभिन्न प्रजाति के पौध रोपे जायेंगगे। हिमालय दिवस के अवसर पर हरीश रावत पर्यावरण संरक्षण के लिए प्रतिबद्ध नजर आये। उन्होंने कहा कि बेशक चीड़ पर्यावरण के लिए खतराहै इसके लिए ऊंचाई वाले स्थानों पर तेजपात और दूसरे कई किस्म के पौध रोपी जाएंगी। इससे वनों पर निर्भर आबादी की आजीविका में सुधार संभव हो सकेगा। इस मौके पर वन पंचायतों के चुनाव कराने की भी बात कही। उन्होंने उम्मीद जताई कि 60 फीसदी पंचायतों की कमान महिलाओं के हाथ में होगी।

सुंदरलाल बहुगुणा ने दिलाई शपथ

गांधी पार्क में आयोजित कार्यक्रम में प्रसिद्ध पर्यावरणविद व पद्मश्री सुंदरलाल बहुगुणा ने स्कूली बच्चों व उपस्थित लोगों को हिमालय बचाओ की शपथ दिलाई। शपथ लेने वालों में मुख्यमंत्री हरीश रावत, शिक्षा मंत्री मंत्रीप्रसाद नैथानी भी शामिल थे। हिमालय बचाओ जागरूकता रैली को भी रवाना किया गया। इस दौरान पर्यावरणविद व पद्मश्री सुंदरलाल बहुगुणा ने कहा कि पेड़ पौधे रहेंगे तो हिमालय रहेगा और हिमालय रहेगा तो जीवन रहेगा .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here