गैरसैंण में बजट सत्र के दौरान सरकार ने पेश किया आर्थिक सर्वे

0
40

आर्थिक सर्वे में हरिद्वार अव्वल

गंगाद्वार हरिद्वार ना केवल असीम आस्था का केंद्र है बल्कि यह सूबे के सबसे खुशहाल शहरों में भी शामिल हैं। यहां प्रतिव्यक्ति  वार्षिक आय 2,54,050 आंकी गयी है। इतना ही नहीं हरिद्वार का सकल घरेलू उत्पाद राज्य में सबसे ज्यादा 58, 16824 करोड़ आंका गया है।
गैरसैंण में बजट सत्र के दौरान ये बात सामने आयी है। बजट सत्र के दौरान डबल इंजन सरकार ने प्रदेश का आर्थिक सर्वे भी पेश किया। आर्थिक सर्वे के अनुसार उत्तरकाशी व रूद्रप्रयाग की स्थिति ठीक नहीं है।
इस सर्वे में प्रदेश में पहाड़ और मैदान के बीच आर्थिक व सामाजिक स्तर के अंतर को इंगित किया गया है। इस सर्वे को आधार मान लिया जाये तो राज्य की प्रति व्यक्ति वार्षिक आय 1, 77,356 आंकी गयी है। प्रदेश में सबसे कम प्रति व्यक्ति आय 83,521 रूपये उत्तरकाशी की है। रूद्रप्रयाग जिले का सकल घरेलू उत्पाद सबसे कम 2, 510,40 करोड़ होने का अनुमान है। सर्वे के अनुसार राज्य में आर्थिक विकास दर में कमी आने की बात जतायी गयी है। साल-2017-18 में विकास दर 6. 95 से कम होकर 6.77 फीसदी हो सकती है। सर्वे में बताया गया है कि राज्य में बेरोजगारी की दर राष्ट्रीय औसत पांच प्रतिशत से अधिक आंकी है। सर्वे में चंडीगढ लेबर ब्यूरो का हवाला देते हुये बताया गया कि साल-2015-16 के दौरान 15 साल और इससे अधिक आयु सात प्रतिशत ऐसे व्यक्तियों को रोजगार नहीं मिल पाया जो काम करने के इच्छुक थे।

सर्वे की खास बातें
-राज्य में अधिकांश विस्थापन ग्रामीण क्षेत्रों से हुआ है।
– राज्य में 5000 होम स्टे स्थापित होंगे।
-2017 में 3 करोड़ 47 लाख 23 हजार पर्यटक आये।
-उत्तराखंड में कुल 23 किमी वन क्षेत्र बढे।
-सबसे ज्यादा पौड़ी गढ़वाल और सबसे कम उत्तरकाशी जनपद में बढ़े वन।
-आंगनबाडी केंद्रों में 10,65,399 लाभार्थी पंजीकृत।
-उत्तराखंड में श्रम शक्ति में महिलाओं की भागीदारी ग्रामीण क्षेत्र में 31,5 प्रतिशत है।