कार के लिए विधायक के बेटे ने पौने दो लाख में खरीदा पसंदीदा नंबर

0
171

वाहनों पर अनोखे नंबरों की चाहत में आम से लेकर खास तक लाखों रुपये खर्च करने से भी पीछे नहीं हट रहे। परिवहन विभाग की अनोखे नंबरों के लिए ऑनलाइन बोली में इस बार 0001 बिका एक लाख 77 हजार में। खरीददार भी मसूरी विधायक गणेश जोशी के बेटे मयंक रहे। बताया जा रहा कि उन्होंने अपनी 32 लाख की नई गाड़ी के लिए यह नंबर खरीदा है। मयंक की 14 नवंबर को शादी भी है। लिहाजा, घरवालों की तरफ से यह शादी का गिफ्ट भी माना जा रहा। दूसरा नंबर भी मयंक ने ही दूसरी कार के लिए खरीदा। उन्होंने 0007 नंबर की बोली 36 हजार रुपये लगाकर नंबर को खरीद लिया।

वहीं, दस हजार रुपये का नंबर पौने दो लाख रुपये में बिकने से विभाग फूला नहीं समा रहा। पिछली बोली में यही नंबर दो लाख 35 हजार में बिका था। कारोबारी ने अपनी मर्सडीज कार के लिए 2.35 लाख की बोली लगाकर 0001 नंबर खरीदा था। इस बार नई सीरीज यूके07डीए के साथ पुरानी सीरीज यूके07बीजेड के कुछ नंबरों की बोली लगाई गई। बीजेड सीरीज में 0004 नंबर 11 हजार रुपये में बिका। वहीं, डीए सीरीज में 0005 बीस हजार रुपये में बेचा गया। इसके अलावा 4444 15 हजार व 0786 नंबर 11 हजार में बिका। नंबरों की बोली के बारे में एआरटीओ अरविंद पांडे ने बताया कि 6666 नंबर 12 हजार की बोली और 9000 नंबर दस हजार रुपये की बोली में बिका। इसी तरह 0002, 9999 व 0006 नंबर दस हजार रुपये, जबकि 7000 नंबर 11 हजार, 9999 नंबर दस हजार की बोली में बिका। एआरटीओ ने बताया कि 0009 नंबर 14 हजार रुपये, 0011 नंबर 11 हजार, जबकि 0099 और 0999 नंबरों की बोली दस हजार रुपये लगी।

शुक्रवार शाम चार बजे तक चली बोली की प्रक्रिया अब लॉक कर दी गई है। परिवहन विभाग की ओर से वाहनों के लिए रिजर्व फैंसी नंबरों की ऑनलाइन नीलामी की प्रक्रिया सितंबर से शुरू हुई थी। इसमें लोग बढ़-चढ़कर भाग ले रहे।

उम्मीद नहीं हुई पूरी

भले 0001 बोली में सर्वाधिक कीमत पर बिका, लेकिन परिवहन विभाग की उम्मीदें और ज्यादा थीं। विभाग अनुमान लगा रहा था कि यह नंबर पिछली बार की कीमत से ज्यादा बिकेगा, लेकिन इस बार यह पिछली बार से कम में बिका। विभाग इस नंबर की उम्मीद तीन-चार लाख रुपये तक बिकने की मानता है।