अगले माह शुरू होने वाली चारधाम यात्रा के लिए सरकार ने कसी कमर

उत्तराखंड में अगले माह शुरू होने वाली चारधाम यात्रा के लिए परिवहन विभाग ने कमर कस ली है। प्रदेश में चारधाम यात्रा के लिए जाने वाले वाहनों के ग्रीन कार्ड बनने शुरू हो गए हैं। यात्रा को सुचारु चलाने के लिए छह स्थानों पर अस्थायी चेकपोस्ट बनाई जाएंगी। अवैध या बिना ग्रीन कार्ड संचालित होने वाले वाहनों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। चेकिंग के लिए प्रवर्तन दलों की संख्या बढ़ाई जाएगी, इसके लिए आउटसोर्सिंग पर होमगार्ड से जवान लिए जाएंगे।

प्रदेश में अगले माह यानी मई के पहले पखवाड़े में चारों धाम के कपाट खुलने हैं। इसके तहत सात मई को यमुनोत्री व गंगोत्री के कपाट खुलने हैं। नौ मई को केदारनाथ और 10 मई को बदरीनाथ के कपाट खुलेंगे। ऐसे में यात्रा एक मई से शुरू हो जाएगी।

यात्रा के दौरान अवैध वाहनों के संचालन पर नजर रखने और सुचारु यातायात के लिए विभाग छह स्थानों पर अस्थायी चेकपोस्ट खोलेगा। यह चेकपोस्ट देहरादून मसूरी मार्ग के कुठालगेट, उत्तरकाशी के डामटा, ऋषिकेश-श्रीनगर मार्ग के तपोवन व भ्रदकाली के अलावा रुदप्रयाग और बदरीनाथ में भी ये चेकपोस्ट खोली जाएगी। यह सभी एक मई से सक्रिय हो जाएंगी।

सुरक्षित यात्रा के लिए वाहनों को ग्रीन कार्ड जारी किए जाने का काम शुरू हो चुका है। यह कार्ड वाहनों की फिटनेस और उनके सभी कागजात चेक करने के बाद जारी होते हैं। इस दौरान अवैध वाहनों का संचालन न हो, इसके लिए पूरे यात्रा मार्ग पर अतिरिक्त प्रवर्तन यानी चेकिंग करने के लिए दस्ते लगाए जाएंगे। विभाग के पास अभी कर्मचारियों की कमी है। ऐसे में होमगार्डस को आउटसोर्सिंग के जरिये लिया जाएगा। हरिद्वार व ऋषिकेश में इस दौरान विशेष चेकिंग की जाएगी।

अपर आयुक्त परिवहन सुनीता सिंह ने कहा कि चारधाम यात्रा को सुरक्षित और निर्बाध बनाने के लिए विभागीय तैयारियां शुरू हो चुकी हैं। एक मई से यात्रा मार्ग पर अस्थायी चेकपोस्ट शुरू कर दी जाएंगी और प्रवर्तन कार्यों में भी तेजी ला जाएगी।