नवरात्र : व्रत के दिन खाएं ये 4 हेल्दी रेसिपी, दिनभर रहेंगे ताकत और एनर्जी से भरपूर

0
19
Sago sabudana vada with curd served in a dish.
  • ये व्रत की रेसिपीज बनाने में आसान और पोषक तत्वों से भरपूर होती हैं।
  • फ्राई आलू बनाने में आसान होने के कारण कई घरों में बनाया जाता है।
  • फलों का रायता नवरात्रि के दौरान सबसे ज्यादा खाया जाने वाला भोजन है।

साल 2019 की चैत नवरात्र शुरू। इस नवरात्र का हर किसी के जीवन में एक खास महत्व होता है। चाहे बच्चा हो या बूढ़ा हो, नवरात्रि की प्रति हर किसी की श्रद्धा रहती है। नवरात्र में व्रत रखना और मां दुर्गा के प्रति आस्था प्रकट करने का चलन है। ऐसी मान्यता है कि नवरात्र में व्रत रखने से मां प्रसन्न होती है और अपने भक्तों को मनवांछित फल देती है। व्रत रखना अच्छी बात है लेकिन इसके साथ ही यह भी ध्यान रखना चाहिए कि इससे हमारा स्वास्थ्य प्रभावित न हो। व्रत के दौरान लोगों को कमजोरी, सिर में दर्द और चक्कर आना, एसिडिटी और उल्टी आने की समस्या होती है। यह सब खाली पेट और पोषक तत्वों के अभाव के चलते होता है। आज हम आपको कुछ ऐसे फूड्स बता रहे हैं जिन्हें अगर आप व्रत के दौरान लेंगे तो पूरे आपको पूरे दिन एनर्जी मिलेगी और शरीर में ताकत भी बनी रहेगी।

फ्राई आलू
व्रत के दौरान फ्राई आलू सबसे ज्यादा पसंद किया जाने वाला व्यंजन है। इसे बनाना भी आसान है और ये ऊर्जा का महत्वपूर्ण स्रोत भी है। 4-5 आलू उबाल लीजिए और उसके छिलके उतारने के बाद उन्हें 4-6 टुकड़ों में काट लीजिए। एक कढ़ाई में थोड़ा सा तेल गर्म कर जीरा डालिए। जीरा तड़कने के बाद आलू, नमक और आधा छोटी चम्मच काली मिर्च डालकर आलू 2-3 मिनट तक भूनिये, गैस बन्द कर दीजिये, हरा धनिया और एक नींबू का रस डाल कर मिलाइये। व्रत के आलू तैयार हैं। माता को भोग लगाकर परिवारजनों के साथ खाइए।

कट्टू के आटे का चीला
व्रत के दरान कई घरों में कट्टू के आटे का इस्तेमाल भोजन के लिए किया जाता है। कूटू के आटे से व्रत के लिये तरह-तरह के व्यंजन बनाये जाते हैं। इन व्यंजनों में कूट्टू के आटे का चीला बहुत से लोगों द्वारा पसंद किया जाता है। इसे घर में बनाने के लिए 100 ग्राम (आधा कप) कूट्टू का आटा छान कर किसी बर्तन में निकाल लीजिये। 200 – ग्राम अरबी धोकर उबाल लीजिये। अरबी को छील कर, कद्दूकस करके, मैस कर लीजिये। कूट्टू के आटे में मिलाइये, थोड़ा-थोड़ा पानी डालकर, आटे को घोलते जाइये, गुठलियां नहीं पड़नी चाहिये। घोल को अधिक गाढ़ा और अधिक पतला मत कीजिये। घोल को 15 मिनट के लिये ढककर रख दीजिये।

घोल में 1 छोटा चम्मच नमक, आधा छोटा चम्मच काली मिर्च और एक टेबल स्पून कतरा हुआ हरा धनिया मिला लीजिये। तवा गैस पर रखिये, गरम कीजिये, एक बड़ा चमचा घोल तवे पर डालिये और चमचे से गोल गोल चलाते हुये पतला चीला फैलाइये। चीले की नीचली सतह ब्राउन होने तक सेक कर पलट दीजिये। दूसरी तरफ भी ब्राउन होने तक सेकिये। चीला तवे से उतारकर प्लेट में रखी कटोरी के ऊपर रखिये। सारे चीले इसी तरह बनाकर तैयार कर लीजिये। कूट्टू के चीले तैयार हैं इन्हैं आप गरम गरम फ्राई आलू या दही के साथ खाइये।

फलों का रायता
अगर व्रत के दौरान आप फलों का रायता खाते हैं तो आपको और कोई पौष्टिक खाने की जरूरत नहीं होगी। क्योंकि न तो इसे बनाने में तेल का इस्तेमाल किया जाता है और न ही गैस खर्च होती है। इसे बनाना भी बहुत आसान है। यह आपको पूरे दिन तरोताजा रखता है और आपके पाचन शक्ति को कमजोर भी नहीं होने देगा। 1 केले के मोटे-मोटे गोल टुकड़े काट लीजिये। 1 सेब को छोटे-छोटे टुकड़े काट लीजिए। 40-50 अंगूर लें और खरबूज के छोटे-छोटे टुकड़े लें। 400 ग्राम (2 कप) दही को 100 ग्राम मलाई और 2 -3 टेबल स्पून चीनी मिला कर फेंट लीजिये। सारे तैयार फल दही में मिलाइये। 2 इलायची छील कर बारीक कूट लीजिये और रायते में मिला दीजिये। रायते को ठंडा होने के लिये फ्रिज में रख दीजिये। फलों का रायता तैयार है, ठंडा खुशबू दार रायता परोसिये और खाइये। फलों का रायता बनाने के लिये आप अपने मन पसन्द कोई भी फल ले सकते हैं और कोई भी हटा सकते हैं।

कुट्टू की पकौड़ी
इसी तरह कुट्टू की पकौड़ी व्रत के दौरान कुछ चटकदार खाने का मन करने के समय खाई जाती है। इसे बनाने के लिए 150 ग्राम कुट्टू का आटा, 100 ग्राम कच्चा कद्दू, 2 आलू, 1 चम्मच हरीमिर्च-अदरक का पेस्ट, सेंधा नमक और काली मिर्च पाउडर स्वादानुसार, तलने के लिये घी। कद्दू और आलू को छीलकर कस लें। कुट्टू के आटे में पानी डालकर पकौड़ी के घोल की तरह गाढ़ा घोल लें, इस घोल में अदरक-हरी मिर्च का पेस्ट और नमक मिलाएं। साथ ही कसा हुआ आलू और कद्दू भी डाल दें। कड़ाही में घी गर्म करें, जब घी गर्म हो जाये तो उसमें इस घोल की छोटी-छोटी पकौड़ियां डालकर तल लें। फिर इसे हरे धनिये की चटनी के साथ परोसें। ये चार रेसिपीज व्रत के दौरान आप बना कर खा सकते हैं। ये बनाने में आसान होते हैं और इन्हें खाने से आपको जल्दी भूख भी नहीं लगेगी।