NGTका फैसला: गौमुख से हरिद्वार तक प्लास्टिक बैन

0
203

NGTदेहरादून  गंगा प्रदूषण को लेकर को एनजीटी ने बड़ा फैसला लेते हुए गौमुख से लेकर हरिद्वार तक के गंगा तट पर प्लास्टिक के इस्तेमाल पर पूरी तरह से रोक लगा दी गई है। एनजीटी का यह फैसला एक फरवरी 2016 से लागू होगा एनजीटी के फैसले में  गंगा तट पर प्लास्टिक इस्तेमाल पर रोक लगाने के साथ ही केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से इसे सुनिश्चित करने को कहा गया है। प्रतिबंध के बावजूद यदि प्लास्टिक का इस्तेमाल किया जाता है तो होटल, धर्मशाला और लॉज पर जुर्माना लगाया जाएगा

गंगा में कूड़ा डालेंगे तो 5 हजार रुपए का जुर्माना देना होगा। साथ ही अगर कोई अस्पताल गंगा को प्रदूषित करता है, तो उस पर 20 हजार रुपए का जुर्माना लगाया जाएगा। इतना ही नहीं जुर्माना प्रतिदिन के हिसाब से देना होगा

राफ्टिंग पर  NGT नरम 

राफ्टिंग के शौकीनों के लिए एनजीटी का फैसला सौगात लेकर आया है।  एनजीटी ने गंगा में राफ्टिंग पर रोक लगाने से इनकार कर दिया है फैसले में कहा गया है कि राफ्टिंग से गंगा में प्रदूषण नहीं फैलता है। हालांकि कौड़ीयाला से ऋषिकेश तक कैंपिग पर बैन लगाया गया है। वहीं केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने एनजीटी के फैसले का स्वागत किया है उन्होंने कहा कि गोमुख से हरिद्वार तक पॉलीथिन बैन करने से गंगा को स्वच्छ रखने में मदद मिलेगी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here