निरंकारी बाबा हरदेव सिंह का कनाडा सड़क हादसे में निधन!

0
1163

nirakari babaकनाडा में हुए एक सड़क हादसे में निरंकारी बाबा हरदेव सिंह का निधन हो गया। वे  न्यूयार्क से मॉन्ट्रियल जा रहे थे। 62 वर्षीय बाबा हरदेव सिंह 1971 में निरंकारी सेवा दल से जुड़े थे। प्राप्त जानकारी के मुताबिक कनाड़ा में उनकी कार पलटने से उक्त सड़क हादसा हुआ । उनकी मृत्य से निरंकारी समुदाय में शोक की लहर दौड़ गई है।

बाबा हरदेव सिंह का जन्म दिल्ली में 23 फरवरी 1954 को गुरबचन सिंह और कुलवंत कौर के घर हुअा। उन्होंने घर पर ही प्राथमिक शिक्षा प्राप्त की। माला पब्लिक स्कूल, संत निरंकारी कालोनी, दिल्ली में अपनी प्रारंभिक शिक्षा प्राप्त करने के बाद 1963 में उन्होंने यादविंद्रा पब्लिक स्कूल, पटियाला जो कि एक बोर्डिंग स्कूल था, में दाखिला लिया। स्कूली शिक्षा पूरी करने के बाद उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय में अध्ययन किया। 1971 में वे प्राथमिक सदस्य के रूप में निरंकारी सेवा दल में शामिल हो गए। इसके बाद 1975 में दिल्ली में वार्षिक निरंकारी संत समागम के दौरान उन्होंने माता सविंद्र कौर से शादी कर ली ।

बाबा हरदेव सिंह निरंकारी समुदाय के चौथे गुरु थे। 1980 में उग्रवादियों ने इनके पिता बाबा गुरवचन सिंह का कत्ल कर दिया था  जिसके बाद उन्हें गुरु गद्दी प्राप्त हुई थी। हाल ही में 25 अप्रैल 2016 को वह अपनी बेटी-दामाद के साथ अमरीका चले गए थे।

कार की स्पीड काफी तेज थी

कार हादसे की जानकारी देते हुए निरंकारी संप्रदाय के मीडिया इंचार्ज गुलशन राय ठकुराल ने बताया कि हादसे के वक्त कार की स्पीड 200 से 300 कि.मी. थी। गुलशन के मुताबिक बाबा और उनके दो दामाद शुक्रवार को न्यूयार्क से कनाडा के मॉन्ट्रियल जा रहे थे। तेज गति के कारण कार पलट गई। हादसे में हरदेव सिंह के अलावा उनके दामाद अवनीत की भी मौत हो गई। बाबा के दूसरे दामाद सन्नी भी हादसे में घायल हुए लेकिन खतरे से बाहर हैं। बाबा की फैमिली इस वक्त कनाडा में ही है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here