सालो पुराने सूखे कुएं में राम-सीता की खंडित मूर्ति डालने से निकलने लगा पानी!

0
171

wellअब इसे आस्था कहें या अंधविश्वास कि 200 साल से सूखे पड़े कुएं में जब पानी आया तो उस पानी से स्नान के लिए लोगों का सैलाब उमड़ पड़ा है

पड़ोस में रहने वाली एक महिला ने बताया कि उसके घर पर राम-सीता की एक मूर्ति थी जो टूट गई थी उस मूर्ति को महिला ने एक सूखे कुएं में डाल दिया मूर्ति कुएं में डालने के बाद कुएं से धुआं निकला और जो कुआं सालों से सूखा पड़ा था अचानक उसमें पानी का सैलाब आ गया

ग्रामीणों का मानना है कि कुएं से पानी से स्नान से उनकी बीमारियां ठीक हो रही हैं शुक्रवार को भीड़ की अफरातफरी में एक मासूम बच्चा ट्रेन की चपेट में आ गया और उसकी कटकर मौत हो गई

वहीं कुएं से निकल रहे पानी को लेकर इंजीनियरों का कहना है कि भूगर्भ जल के पास गंधक का कोई ऐसा स्रोत हो सकता है, जोकि इस पानी से टकरा रहा है

आम तौर पर गंधक युक्त पानी को बीमारियों के लिए फायदेमंद कहा जाता है कुएं में एकाएक पानी का स्तर बढ़ना भी कोई चमत्कार नहीं है

गौरतलब है कि कुएं के पानी से बीमारियां ठीक होने की अफवाह सुनकर गांव में पिछले 12 दिन से हजारों की भीड़ उमड़ रही है जैसे-जैसे खबर फैल रही है, यहां आस्था का अंधा सैलाब भी उमड़ता जा रहा है हर किसी में कुएं के पानी से नहाने की होड़ लगी है लगातार बढ़ती भीड़ को संभालना मुश्किल हो रहा है

कुएं के पानी से बीमारी दूर होने का दावा करने वाले बाल्टियों और पाइपों से वहां आने वाली भीड़ पर पानी की बौछार कर रहे हैं इस बौछार में सराबोर होने के लिए हर कोई उतावला दिख रहा है आसपास के गांव ही नहीं, बल्कि शहरों से भी हजारों की भीड़ इस गांव में जुट रही है

पुलिस-प्रशासन भी चमत्कार की इस अफवाह से पूरी तरह अंजान है। न तो पुलिस और न हीं प्रशासन के किसी अधिकारी ने गांव जाकर इस अफवाह की सच्चाई जानने की कोशिश की है

कुएं के पानी से लोगों को नहलाकर उनके रोग दूर करने का दावा करने वालों का कहना है कि उनके गांव के कुछ बुजुर्गों को स्वांस और पैरों का दर्द था, जो अब पूरी तरह से ठीक है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here