विश्व मानचित्र पर मिलेगी कण्वाश्रम को पहचान : हरीश रावत

0
217

anvashramउत्तराखंड  गठन के 15 सालों बाद अब चक्रवर्ती सम्राट अशोक की जन्मस्थली कण्वाश्रम को विश्व के मानचित्र पर पहचान मिलेगी

बता दे यह चक्रवर्ती सम्राट अशोक की जन्मस्थली  कोटद्वार स्थित कण्वाश्रम है बसंत पंचमी के दिन मुख्यमंत्री हरीश रावत ने घोषणा कर कहा कि जल्द ही कण्वाश्रम की ऐतिहासिकता को लेकर वह दिल्ली में एक गोष्ठी आयोजित करवाएंगे

इसमें उत्तराखंड के साथ ही दूसरे राज्यों के भी इतिहासकारों को आमंत्रित किया जाएगा जो कण्वाश्रम की ऐतिहासिकता के बारे में इस गोष्ठी में विस्तार से बताएंगे

इतना ही नहीं, सीएम हरीश रावत ने यह भी स्पष्ट किया है कि कण्वाश्रम के बारे में अधिक से अधिक लोग जान सकें इसके लिए इसे पाठ्यक्रम में भी शामिल किया जाएगा

12 फरवरी के अपने कोटद्वार दौरे के दौरान सीएम ने स्पष्ट करते हुए सीएम ने कहा कि चक्रवर्ती सम्राट अशोक के नाम से इस देश को भारत नाम मिला उनकी जन्मस्थ को जल्द ही वह पहचान दिलाने का काम किया जाएगा, जिसकी वह हकदार है

कण्वाश्रम को पर्यटन सर्किट से भी जोड़ने की बात करते हुए सीएम हरीश रावत ने कहा कि लैंसडाउन-कोटद्वार पर्यटन सर्किट का नाम भी कण्वाश्रम पर्यटन सर्किट के नाम से जाना जाएगा ताकि बाहर से आने वाले पर्यटक यह जान सके कि आखिर कण्वाश्रम की ऐतिहासिकता क्या है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here