बिहार पर मंडराने लगा कोसी के कहर का खतरा

0
127

नई दिल्ली। बिहार के नौ जिलों में एक बार फिर कोसी के कहर का खतरा मंडराने लगा है। यह खतरा नेपाल से निकलने वाली एक पहाड़ी नदी में हुए भूस्खलन के बाद पैदा हुआ। बिहार सरकार ने एहतियातन नौ जिलों में हाई अलर्ट जारी कर दिया है। यही नहीं कोसी से सटे निचले इलाकों को खाली भी कराया जा रहा है।

केंद्र सरकार ने भी खतरे से निपटने के लिए भारी संख्या में एनडीआरएफ की टीमें वहां भेजी हैं, साथ ही राहत कार्य में मदद के लिए सेना की पांच कंपनियां भी भेजी गई हैं। इन्हें सुपौल, सहरसा, कटिहार, मधेपुरा और पूर्णिया में तैनात किया गया है। नेपाल की जिस पहाड़ी में लैंड स्लाइड हुआ है। वहां इस समय 25 लाख क्यूसेक पानी जमा हो गया है। इस जगह पर पहाड़ की चट्टान की वजह से ये पानी जमा हो गया है।

नेपाल और भारत के विशेषज्ञ पहाड़ की चट्टान को विस्फोट के जरिये धीरे धीरे हटाने की कोशिश कर रहे हैं। अगर ये पानी एक साथ यहां से छोड़ा गया तो कोसी तक पहुंचने में 10 से 12 घंटे का वक्त लगेगा। दूसरी तरफ कोसी बैराज की क्षमता 11 लाख क्यूसेक पानी की है, जो पहले से ही भरा हुआ है। अगर नेपाल से 25 लाख क्यूसेक पानी भारत आ गया तो कई जिले पानी में डूब जाएंगे। ऐसे में कोशिश ये है कि नेपाल से इस पानी को धीरे धीरे छोड़ा जाए, ताकि हालात खराब न हों।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here