डॉ. गोबिंद चातक लोक सम्मान से सम्मानित हुए गणेश खुगशाल

0
322

ganiदेहरादून  उत्तराखंड की लोक संस्कृति, लोकभाषा, लोकसाहित्य एवं लोकमूल्यों को अपनी कविताओं व लेखों के माध्यम से जन-जन तक पहुंचाने के लिए सुप्रसिद्ध मंच उदघोषक, वरिष्ठ पत्रकार, कवि व लेखक गणेश खुगशाल “गणी” को बर्ष 2015 के लिए लोकसाहित्य के क्षेत्र में डॉ. गोबिंद चातक लोक साहित्य सम्मान से सम्मानित किया गया है जोकि अपने आप में एक बहुत बड़ी उपलब्धि कही जा सकती है। 

विगत दिवस मसूरी में आयोजित यह सम्मान समारोह लोक संस्कृति के क्षेत्र में डॉ. गोबिंद चातक के पैत्रिक गॉव खेत्र की संस्था “कीर्तिनगर नागरिक विकास समिति मसूरी” द्वारा रखा गया था जिसमें गणेश खुगशाल गणि को उत्तराखंड की लोक संस्कृति, लोकभाषा, लोकसाहित्य एवं लोकमूल्यों पर उत्कृष्ट कार्य करने के लिए इस सम्मान से नवाजा गया है
ज्ञात हो कि गणि बर्षों से उत्तराखंड की लोक धरोहरों व उसकी अभिन्न संस्कृति के विभिन्न रूपों को अपनी कविताओं व लेखों के माध्यम से पूरे देश के बड़े बड़े मंचों पर प्रस्तुत करते आ रहे हैं. ज्ञात हो कि यह पहला डॉ. गोबिंद चातक सम्मान का आयोजन था

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here