रोज 17 रुपये देना किसानों का अपमान – बजट पर बोले राहुल गांधी

0
41

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अंतरिम बजट पर प्रतिक्रिया देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है. राहुल ने किसानों को दी जाने वाली 6 हजार रुपये सालाना की आर्थिक मदद पर ट्वीट करते हुए कहा कि 5 साल की अक्षमता और अहंकार से किसान पूरी तरह बर्बाद हो चुके हैं. अब उनको प्रतिदिन 17 रुपये देना उनके द्वारा की गई मेहनत और उनकी हर मांग का अपमान है.

राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘प्रिय नरेंद्र मोदी जी, आपकी पांच वर्षों की अक्षमता और अहंकार ने हमारे किसानों के जीवन को बर्बाद कर दिया. उनको प्रतिदिन 17 रुपये देना हर उस चीज का अपमान है जिसके लिए किसान खड़े हैं और काम कर रहे हैं.’

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने भी बजट की कड़ी आलोचना की है. उन्होंने कहा कि अंतरिम वित्त मंत्री ने इतना लंबा अतंरिम बजट पेश कर लोगों के धैर्य की परीक्षा ली है. यह मेरी याद में अब तक का सबसे लंबा अंतरिम बजट है. उन्होंने कहा कि यह अंतरिम बजट नहीं बल्कि चुनाव प्रचार का भाषण था.

किसानों की दी जाने वाली आर्थिक मदद के ऐलान पर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने सरकार की पीठ थपथपाई है. उन्होंने कहा कि सरकार 75 हजार करोड़ का बोझ सहन कर किसान भाइयों की मदद के लिए खड़ी रहेगी. अमित शाह ने कहा कि बैंक का कर्ज सिर्फ एक बार माफ होता है और आधे से ज्यादा किसान जो कर्ज भी नहीं लेते हैं, उन्हें भी इस योजना का लाभ होगा.

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि यह समाज के हर वर्ग को राहत देने वाला बजट है. उन्होंने कहा कि किसान, मजदूर, मध्यम वर्ग को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से जो अपेक्षा थी वह इस बजट से पूरी होगी. उन्होंने कहा कि देश के छोटे किसानों को 2-2 हजार की तीन किस्तों में 6 हजार रुपये सालाना दिए जाएंगे.

कृषि मंत्री राधामोहन सिंह ने कहा कि हमने पहले से ही प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के लिए गाइड लाइन जारी कर दिए हैं और छोटे-सीमांत किसानों को अब हर साल 6 हजार रुपये दिए जाएंगे. मार्च से पहले हम किसानों के बैंक खातों में 2 हजार रुपये की किस्त डालने जा रहे हैं. अगले वित्त वर्ष से किसानों को पूरी 6 हजार रुपये हर साल दिए जाएंगे.