विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन के खिलाफ उबाल, तत्काल बर्खास्तगी पर पेच

0
11

खानपुर से भाजपा विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन का हाथों में हथियार लहराकर डांस करने के साथ ही उत्तराखंड के संबंध में अपशब्द का वीडियो वायरल होने से गुस्साए विभिन्न संगठनों का प्रदर्शन का दौर जारी है। वहीं, चैंपियन की भाजपा से तत्काल बर्खास्तगी पर तकनीकी पेच फंस गया है।

सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो के मामले में प्रदेश भाजपा की ओर से चैंपियन को भेजे गए बर्खास्तगी के नोटिस की 10 दिन की अवधि खत्म होने के बाद इस बारे में फैसला लिया जाएगा। हालांकि, पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व से जैसे संकेत मिले हैं, उससे चैंपियन की भाजपा से छुट्टी तय मानी जा रही है। इस बीच भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं प्रदेश प्रभारी श्याम जाजू ने साफ किया कि प्रदेश स्तर से विधायक चैंपियन की बर्खास्तगी की प्रक्रिया पूरी कर दी गई है। केंद्रीय नेतृत्व को इसकी घोषणा करनी है।

विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन के एक के बाद एक लगातार विवादों ने भाजपा नेतृत्व को असहज किया हुआ है। सोशल मीडिया पर हाल में वायरल हुए चैंपियन के ताजा वीडियो का संज्ञान लेते हुए भाजपा ने उन्हें बर्खास्तगी का नोटिस भेजा है। वायरल हुए वीडियो में विधायक चैंपियन के असलहा लहराने और राज्य के प्रति अभद्र टिप्पणी को भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व ने गंभीरता से लिया है। राज्य के प्रति अभद्र टिप्पणी को लेकर राज्यभर में उबाल भी है।

इस बीच राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं प्रदेश प्रभारी श्याम जाजू ने मीडिया से बातचीत में कहा था कि विधायक चैंपियन को भाजपा से बर्खास्त कर दिया गया है। इसके आधार पर प्रिंट से लेकर इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में चैंपियन की भाजपा से छुट्टी की खबरें चलीं।

अब बताया गया कि चैंपियन की पार्टी से तत्काल बर्खास्तगी के मसले पर तकनीकी पेच फंस गया है। वजह ये कि उन्हें बर्खास्तगी का नोटिस भेजा गया है, जिसका उन्हें 10 दिन के भीतर जवाब देना है। इसी के चलते चैंपियन की तत्काल बर्खास्तगी को आगे तक के लिए टाल दिया गया।

हालांकि, प्रदेश प्रभारी श्याम जाजू ने कहा कि प्रदेश स्तर से विधायक चैंपियन की पार्टी से बर्खास्तगी की प्रक्रिया पूरी कर दी गई है। इस मामले में प्रदेश स्तर से जो करना था वो कर दिया गया है। अब केंद्रीय नेतृत्व को घोषणा करनी है। वहीं, भाजपा की ओर से प्रदेश मीडिया प्रभारी डॉ. देवेंद्र भसीन ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि विधायक चैंपियन के वायरल हुए वीडियो का केंद्रीय व प्रदेश नेतृत्व द्वारा संज्ञान लिए जाने के बाद प्रदेश अध्यक्ष के निर्देश पर चैंपियन को नोटिस भेजा गया है। नोटिस में चैंपियन से कहा गया है कि वे 10 दिन में बताएं कि वीडियो प्रकरण में उन्हें क्यों पार्टी से बर्खास्त कर दिया जाए।

डॉ. भसीन ने कहा कि तय समयावधि में नोटिस का उत्तर मिलने अथवा न मिलने की स्थिति में प्रदेश नेतृत्व इसके संदर्भ में निर्णय लेते हुए अपनी संस्तुति केंद्रीय नेतृत्व को कार्रवाई के लिए प्रेषित करेगा। उन्होंने यह भी बताया कि दिल्ली के एक पत्रकार के साथ बदसलूकी समेत अन्य मामलों में 22 जून को विधायक चैंपियन को तीन माह के लिए पार्टी से निलंबित किया गया था। अब इसकी अवधि अनिश्चितकाल तक के लिए बढ़ा दी गई है।

डॉ.भसीन ने बताया कि प्रदेश प्रभारी श्याम जाजू ने भी वीडियो प्रकरण को गंभीरता से लेते हुए विधायक चैंपियन को भाजपा से बर्खास्त करने की संस्तुति केंद्रीय नेतृत्व से की है। उन्होंने बताया कि किसी विधायक अथवा सांसद को पार्टी से बर्खास्त करने का अधिकार भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व को है। चैंपियन के लिए बसपा के दरवाजे भी बंद

भाजपा से निष्कासन की संस्तुति के बाद खानपुर विधायक कुंवर प्रणव ङ्क्षसह चैंपियन के लिए बहुजन समाज पार्टी के दरवाजे भी बंद हो गए हैं। चैंपियन के बसपा में जाने की सोशल मीडिया पर चल रही चर्चाओं पर बसपा प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप बालियान ने विराम लगा दिया है। उनका कहना है कि बसपा अनुशासित पार्टी है। चैंपियन जैसे लोगों के लिए बहुजन समाज पार्टी में कोई जगह नहीं है। फिलहाल उन्होंने कोई संपर्क भी नहीं किया है।

बसपा प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप बालियान ने सोशल मीडिया पर खानपुर विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन के बसपा में शामिल होने की संभावनाओं को कोरी कल्पना बताया। उन्होंने कहा कि बसपा में अनुशासन सर्वोच्च है। चैंपियन जैसे लोग, जो अनुशासन को अपने कदमों में रखने की बात करते हैं और अपने बाहुबल, हथियारों का खुला प्रदर्शंन करते हैं, उनके लिए बसपा में कोई जगह नहीं है।